3rd June 2020

कोरोना संकट के बीच आर-पार, चीन का आरोप- दक्षिण चीन सागर में जहाज भेज रहा US

  •   
  •  
  •  
  •  
  •   
  •  
  •  

कोरोना वायरस महामारी से जूझ रही दुनिया के सामने इस वक्त संकट है कि किस तरह इस मुश्किल से उबरा जाए. लेकिन इस सबके बीच अमेरिका और चीन के बीच लगातार जुबानी जंग चल रही है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप इस वायरस के लिए चीन को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं, तो वहीं अब चीन की ओर से भी आरोप लगाया गया है. चीन का कहना है कि कोरोना के संकट के समय अमेरिका दक्षिणी चीन सागर में एयरक्राफ्ट भेज रहा है. चीनी विदेश मंत्रालय की तरफ से बुधवार को बयान दिया गया, ‘चीन इस वक्त कोरोना वायरस महामारी से निपटने में दुनिया के अलग-अलग देशों की मदद कर रहा है. लेकिन दूसरी तरफ अमेरिका अपने जंगी जहाज और एयरक्राफ्ट दक्षिणी चीन सागर में भेज रहा है, जो कि चीन की संप्रभुता को चुनौती देना है. हम चाहते हैं कि अमेरिका पहले अपने घर में फैली महामारी से निपटे’. चीन की ओर से बयान दिया गया कि हम अमेरिका को भी लगातार मदद पहुंचा रहे हैं, बीते दिनों न्यूयॉर्क में हमारी तरफ से वेंटिलेटर भेजे गए. गौरतलब है कि दक्षिण चीन सागर से सटे देशों पर चीन अपना प्रभाव जमाता आया है, जिसको लेकर अमेरिका समेत दुनिया के कई देश चीन पर निशाना साधते आए हैं. इसी को लेकर चीन और अमेरिका में लंबे समय से विवाद चल रहा है, जो समय-समय पर सामने आता रहता है.

कोरोना को लेकर अमेरिका और चीन में आर-पार- गौरतलब है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप कोरोना वायरस को लेकर लगातार चीन पर हमलावर हैं, बीते दिनों उन्होंने इस वायरस का नाम ही ‘चीनी वायरस’ रख दिया था. डोनाल्ड ट्रंप का कहना है कि ये वायरस चीन से ही दुनिया को मिला है, इसलिए इसे चीनी वायरस ही कहना चाहिए. इसके अलावा ट्रंप की ओर से आरोप लगाया गया कि चीन और WHO ने मिलकर दुनिया को कोरोना वायरस को लेकर अंधेरे में रखा, जिसकी वजह से ये नुकसान उठाना पड़ रहा है. बता दें कि अमेरिका में अबतक कोरोना वायरस की चपेट में लगभग 4 लाख लोग आ चुके हैं, जबकि 10 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है.

hit counter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *