Mon. Oct 21st, 2019

“जल के लिए जनांदोलन की जरूरत”, PM मोदी ने ‘मन की बात’ में कही ये 10 बड़ी बातें

  •   
  •  
  •  
  •  
  •   
  •  
  •  

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2019 लोकसभा चुनाव जीतने के बाद आज पहली बार ‘मन की बात’ की. पीएम मोदी का यह रेडियो कार्यक्रम (मन की बात) लगभग चार महीने बाद हो रहा था. पीएम ने अखिरी बार 24 फरवरी को ‘मन की बात’ कार्यक्रम के जरिए देश को संबोधित किया था. पीएम मोदी ने आज के कार्यक्रम में आपातकाल, चुनाव, जल संकट से लेकर कई मुद्दों पर अपनी बात रखी. चलिए जानते हैं कि आज के ‘मन की बात’ में पीएम मोदी ने कौन सी दस बड़ी बातें कहीं.

1.पीएम मोदी ने कहा, “देशवासियों से मेरा दूसरा अनुरोध है. हमारे देश में पानी के संरक्षण के लिए कई पारंपरिक तौर-तरीके सदियों से उपयोग में लाए जा रहे हैं. मैं आप सभी से, जल संरक्षण के उन पारंपरिक तरीकों को शेयर करने का आग्रह करता हूं.”

2. पीएम ने कहा, “जल संरक्षण की दिशा में महत्वपूर्ण योगदान देने वाले व्यक्तियों का, स्वयं सेवी संस्थाओं का, और इस क्षेत्र में काम करने वाले हर किसी का, उनकी जो जानकारी हो, उसे आप #JanShakti4JalShakti के साथ शेयर करें ताकि उनका एक डाटाबेस बनाया जा सके.”

3. उन्होंने कहा कि जल की महत्ता को सर्वोपरि रखते हुए देश में नया जल शक्ति मंत्रालय बनाया गया है. इससे पानी से संबंधित सभी विषयों पर तेजी से फैसले लिए जा सकेंगे.

4. पीएम मोदी ने आज के ‘मन की बात’ में योग दिवस का जिक्र किया. उन्होंने कहा कि ‘मेरे प्यारे देशवासियों, मुझे और एक बात के लिए भी आपका और दुनिया के लोगों का आभार व्यक्त करना है. 21 जून को फिर से एक बार योग दिवस में उमंग के साथ, एक-एक परिवार के तीन-तीन चार-चार पीढ़ियां, एक साथ आ करके योग दिवस को मनाया.’

5. उन्होंने कहा कि मेरे प्यारे देशवासियों, मुझे और एक बात के लिए भी आपका और दुनिया के लोगों का आभार व्यक्त करना है. 21 जून को फिर से एक बार योग दिवस में उमंग के साथ, एक-एक परिवार के तीन-तीन चार-चार पीढ़ियां, एक साथ आ करके योग दिवस को मनाया.

6. पीएम ने कहा कि ‘हम स्वागत सत्कार में फूलों के बजाय किताबें दें. मुझे हाल ही में किसी ने ‘प्रेमचंद की लोकप्रिय कहानियां’ नाम की पुस्तक दी. प्रवास के दौरान मुझे उनकी कुछ कहानियां फिर से पढ़ने का मौका मिल गया. प्रेमचंद ने अपनी कहानियों में समाज का जो यथार्थ चित्रण किया है, पढ़ते समय उसकी छवि आपके मन में बनने लगती है.’

7. पीएम मोदी ने हाल ही में समाप्त हुए लोकसभा चुनाव का जिक्र किया. उन्होंने कहा कि 2019 का लोकसभा का चुनाव अब तक के इतिहास में दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक चुनाव था. लाखों कर्मियों की दिन-रात की मेहनत से चुनाव संपन्न हो सका. सैन्य कर्मियों ने भी परिश्रम की पराकाष्ठा की.

8. उन्होंने कहा कि भारत गर्व के साथ कह सकता है कि हमारे लिए, कानून नियमों से परे लोकतंत्र हमारे संस्कार हैं, लोकतंत्र हमारी संस्कृति है, लोकतंत्र हमारी विरासत है. और आपातकाल में हमने अनुभव किया था और इसीलिए देश, अपने लिए नहीं, लोकतंत्र की रक्षा के लिए आहुत कर चुका था.

9. उन्होंने कहा कि आज संसद में 78 महिलाएं हैं जो कि रिकॉर्ड है. मैं चुनाव आयोग और हर उस शख्स को बधाई देता हूं जो चुनाव की प्रक्रिया से जुड़े और भारत के वोटरों को भी सलाम करता हूं.

10. उन्होंने कहा कि चुनाव की आपाधापी में व्यस्तता ज्यादा थी लेकिन मन की बात का मजा ही गायब था, एक कमी महसूस कर रहा था. हम 130 करोड़ देशवासियों के स्वजन के रूप में बातें करते थे.

Visitor Hit Counter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...