10th April 2020

भारत US से खरीद रहा हेलिकॉप्टर, नाम- रोमियो, काम- जेम्स बॉन्ड वाला

  •   
  •  
  •  
  •  
  •   
  •  
  •  

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के आने से ठीक पहले भारत ने 30 हैवी ड्यूटी मल्टीरोल कॉम्बैट हेलिकॉप्टरों की डील की है. ये डील करीब 25 हजार करोड़ रुपये की है. इनमें से 6 अपाचे हेलिकॉप्टर होंगे और 24 MH 60R रोमियो सीहॉक मल्टीमिशन हेलिकॉप्टर. रोमियो सीहॉक मल्टीमिशन हेलिकॉप्टर अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, तुर्की और स्पेन का पसंदीदा हेलिकॉप्टर है. सब ठीक रहा तो यह भारतीय नौसेना के लिए भी आएगा. कैबिनेट कमिटी ऑन सिक्यॉरिटी (CCS) के सूत्रों की माने तो इन सौदों को अगले सप्ताह औपचारिक मंजूरी मिल जाएगी. उम्मीद जताई जा रही है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे के दौरान इस समझौते को अंतिम रूप दिया जाए. CCS के सूत्रों के अनुसार डील के तहत भारत को MH 60R हेलिकॉप्टरों के लिए पहली किस्त के तौर पर 15% की किस्त देनी होगी. डील पर साइन होने के बाद अगले 2 साल में हेलिकॉप्टरों की पहली किस्त आ जाएगी. अगले 4 साल में सभी 24 हेलिकॉप्टर आ जाएंगे.


MH 60R रोमियो सीहॉक मल्टीमिशन हेलिकॉप्टर एंटी सबमरीन, एंटी-सरफेस वारफेयर, नेवल स्पेशल वारफेयर, सर्च एंड रेस्क्यू, कॉम्बैट सर्च एंड रेस्क्यू और मेडिकल इवेक्यूएशन में मदद करेगा.MH 60R रोमियो सीहॉक मल्टीमिशन हेलिकॉप्टर में हेलफायर मिसाइल तैनात है. साथ ही MK-54 टॉरपीडो भी लैस है. अगर यह दुश्मन के पीछे पड़ जाए तो इससे बच पाना मुश्किल है. यह पानी के अंदर मौजूद दुश्मन की पनडुब्बियों को देखकर उनपर भी हमला कर सकता है. यह हेलिकॉप्टर फ्रिगेट, विध्वंसक पोतों, क्रूजर और विमान वाहक पोतों से संचालित किया जा सकता है. यह दुनिया का सबसे अत्याधुनिक समुद्री हेलिकॉप्टर माना जाता है. रक्षा विशेषज्ञों के अनुसार हिंद महासागर में चीन के तेवर को देखते हुए भारत के लिए यह हेलिकॉप्ट जरूरी है. इस क्षेत्र के युद्धपोत बल में अभी तक करीब एक दर्जन पुराने सी किंग और 10 कामोव-28 एंटी सबमरीन युद्धक हेलिकॉप्टर हैं.

इस हेलिकॉप्टर से भारतीय नौसेना को जमीन और पनडुब्बी से संबंधित लड़ाई करने में आसानी होगी. इस हेलिकॉप्टर को पनडुब्बी को खोज कर उसे नष्ट करने के लिए बनाया गया है. MH 60R रोमियो सीहॉक मल्टीमिशन हेलिकॉप्टर में 5 लोग बैठकर जा सकते हैं. यह 64 फीट लंबा और 17 फीट ऊंचा है.रोमियो सीहॉक हेलिकॉप्टर की अधिकतम गति 270 किलोमीटर प्रतिघंटा है. लेकिन जरूरत पड़ने पर यह 330 किलोमीटर प्रतिघंटा तक जा सकता है.रोमियो एक बार में 830 किलोमीटर की उड़ान भर सकता है. वह भी 12 हजार फीट की ऊंचाई पर. यह 1650 फीट प्रति मिनट की गति से आसमान में टेकऑफ कर सकता है.

रोमियो पर 4 हेलफायर मिसाइल, एडवांस्ड प्रेसिशन किल वेपन सिस्टम, एम-60 मशीन गन और एमके 44 मोड 30 एमएम की कैनन लग सकती है. इतने हथियारों के साथ जब यह उड़ता है तो यह अपने आप में किसी शैतान से कम नहीं होता.इसकी ताकत को देखते हुए कई देशों ने इसे खरीदने का मन बना रखा है. मलेशिया, सउदी अरब, इजरायल जैसे देश इस हेलिकॉप्टर के प्रदर्शन की काफी तारीफ भी कर रहे हैं. सिर्फ हमला करने में ही नहीं बल्कि MH 60R रोमियो सीहॉक मल्टीमिशन हेलिकॉप्टर बचाव एवं राहत कार्यों में भी काफी मददगार साबित होगा.

hit counter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *