Tue. May 21st, 2019

पांड्या चमके, पर कुलदीप-जाधव फेल; IPL में यूं रहा भारत की ‘वर्ल्ड कप टीम’ का प्रदर्शन

  •   
  •  
  •  
  •  
  •   
  •  
  •  

नई दिल्ली: चेन्नई पर मुंबई की शानदार जीत के साथ ही इंडियन टी20 लीग (आईपीएल) को रविवार (12 मई) को नया चैंपियन मिल गया. इसके साथ ही क्रिकेट की सबसे लोकप्रिय लीग का 12वां सीजन (IPL-12) खत्म हो गया. अब क्रिकेटप्रेमियों का फोकस आईपीएल से वर्ल्ड कप (World Cup 2019) पर हो गया है. सभी जानना चाह रहे हैं कि विश्व कप के लिए उनकी पसंदीदा टीमों की तैयारियां कैसी हैं. अब भारत (Team India) के खिलाड़ियों ने तो पिछले डेढ़ महीने से कोई इंटरनेशनल या प्रैक्टिस मैच खेला नहीं है.

 

ऐसे में उनकी तैयारियों और फॉर्म का अंदाज आईपीएल-12 में प्रदर्शन से ही लगाया जा सकता है. हम यहां उनके इसी प्रदर्शन पर नजर डाल रहे हैं. आईपीएल-12 के प्रदर्शन की बात करें तो इसकी ट्रॉफी तो उस खिलाड़ी (रोहित शर्मा) ने उठाई, जो भारतीय टीम का उपकप्तान भी है. लेकिन व्यक्तिगत प्रदर्शन के मामले में विदेशी खिलाड़ियों ने बाजी मारी. लीग का सबसे ज्यादा रन बनाने का खिताब ऑस्ट्रेलिया के डेविड वार्नर (692) रन ले उड़े. वहीं, सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाजों की लिस्ट में पहले दो नाम दक्षिण अफ्रीकी रहे. इमरान ताहिर ने 26 विकेट के साथ पर्पल कैप पर कब्जा किया.

 

राहुल ने बनाए सबसे अधिक रन- भारतीय क्रिकेटर भले ही ऑरेंज या पर्पल कैप नहीं जीत सके, लेकिन ऐसा भी नहीं है कि उनका प्रदर्शन कमजोर रहा है. केएल राहुल और शिखर धवन ने आईपीएल में इस साल 500 से अधिक रन बनाए. विराट कोहली, रोहित शर्मा और एमएस धोनी ने भी 400 से अधिक रन बनाकर फॉर्म में होने के संकेत दिए.

 

बुमराह और मोहम्मद शमी पूरे रंग में – गेंदबाजी में जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी और युजवेंद्र चहल पूरे रंग में दिखे. बुमराह और शमी ने लीग में 19-19 विकेट झटके. चहल के नाम 18 विकेट रहे. ऑलराउंडर में हार्दिक पांड्या (402 रन, 14 विकेट) और रवींद्र जडेजा (106 रन, 15 विकेट) का प्रदर्शन भी बेहतरीन रहा.

 

कुलदीप और जाधव का प्रदर्शन चिंताजनक – आईपीएल-12 में कुलदीप यादव और केदार जाधव का प्रदर्शन जरूर भारतीय टीम प्रबंधन की चिंता का कारण बन सकता है. ये दोनों लीग में अपना कोई प्रभाव नहीं छोड़ पाए. कुलदीप का प्रदर्शन तो इतना खराब था कि कोलकाता की टीम को उन्हें लीग के बीच में ही बाहर करना पड़ा. उधर, केदार जाधव खराब फॉर्म में चल ही रहे थे, इस बीच उन्हें चोट भी लग गई. अभी यह तय नहीं है कि वे कितने दिनों में फिट हो पाएंगे.

 

भुवी और विजय का औसत प्रदर्शन- आईपीएल-12 में भुवनेश्वर 15 मैच में सिर्फ 13 विकेट ले पाए. वहीं, विजय शंकर ने इतने ही मैच में सिर्फ 244 रन बनाए और एक ही विकेट ले पाए. यह प्रदर्शन भले ही बहुत खराब नहीं है, लेकिन इसे अच्छा भी नहीं का जा सकता. विजय शंकर को टीम इंडिया के चौथे नंबर के बल्लेबाज के तौर पर चुना गया है. ऐसे में उनके कमजोर प्रदर्शन से टीम इंडिया की चिंता बढ़ सकती है.

 

ऑस्ट्रेलिया-इंग्लैंड-पाकिस्तान खेल रहे मैच – ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, इंग्लैंड, पाकिस्तान जैसी टीमें विश्व कप की तैयारी के लिए इंटरनेशनल या अभ्यास मैच खेल रही हैं. भारतीय क्रिकेट टीम विश्व कप से पहले अपना पहला अभ्यास मैच 25 मई को न्यूजीलैंड से खेलेगी. इसके बाद वह 28 मई को बांग्लादेश से भी एक मैच खेलेगी.

Visitor Hit Counter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...