Sun. Apr 21st, 2019

ताहिर और रैना चमके, चेन्नई सुपरकिंग्स की सातवीं जीत

कोलकाता, चेन्नई सुपरकिंग्स ने इमरान ताहिर की शानदार गेंदबाजी के बाद सुरैश रैना की 58 रन की नाबाद पारी से रविवार को यहां आईपीएल मैच में कोलकाता नाइटराइडर्स को पांच विकेट से हराकर आठ मैचों में सातवीं जीत से तालिका में अपना शीर्ष स्थान मजबूत कर दिया। इस तरह चेन्नई ने केकेआर के खिलाफ इस सत्र के दोनों मैचों में जीत का परचम लहराया। घरेलू टीम की आठ मैचों में यह पांचवीं और लगातार तीसरी हार है। क्रिस लिन की 82 रन की शानदार पारी समाप्त कर इमरान ताहिर ने 27 रन देकर चार विकेट हासिल किये जिससे कोलकाता नाइटराइडर्स आठ विकेट पर 161 रन ही बना सकी।इस लक्ष्य का पीछा करने उतरी चेन्नई सुपरकिंग्स ने धीमी शुरूआत के बावजूद 19.4 ओवर में पांच विकेट पर 162 रन बनाकर जीत दर्ज की।

 

चेन्नई के लिये सुरेश रैना ने 42 गेंद का सामना करते हुए सात चौके और एक छक्के से नाबाद 58 रन बनाये। उन्हें कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के पवेलियन लौटने के बाद रविंद्र जडेजा का अच्छा साथ मिला जिन्होंने 17 गेंद में पांच चौके से नाबाद 31 रन का योगदान दिया। सलामी बल्लेबाज शेन वाटसन (06) और फाफ डु प्लेसिस (24) से अच्छी शुरूआत कराने की उम्मीद थी लेकिन हैरी गुर्ने ने चौथे ओवर में वाटसन को आउट कर टीम को पहला झटका दिया। केकेआर टीम में वापसी कर रहे सुनील नारायण ने फिर डु प्लेसिस को बोल्ड कर टीम को दूसरा विकेट दिलाया।
रैना एक छोर पर डटे थे पर अम्बाती रायुडू (05) और केदार जाधव (20) ने जल्द ही पवेलियन की राह पकड़ ली जिन्हें पीयूष चावला ने आउट किया।

 

महेंद्र सिंह धोनी (16) और रैना से उम्मीद लगी थी, पर पूर्व भारतीय कप्तान भी जल्द ही नारायण का दूसरा शिकार बन गये। इसके बाद रैना और जडेजा जिम्मेदारी से खेलते हुए टीम को जीत तक ले गये। ईडन गार्डन्स की पिच पर अभी तक स्पिनर जूझते दिखे हैं। लेकिन ताहिर ने 11वें और 15वें ओवर में दो दोहरे झटके देते हुए चेन्नई का पलड़ा भारी कर दिया और साथ ही आईपीएल में गेंदबाजी में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन भी किया। इससे उन्होंने सर्वाधिक विकेट चटकाने वाले गेंदबाजों की सूची में कागिसो रबाडा को पीछे छोड़ दिया। ताहिर ने शानदार बल्लेबाजी कर रहे क्रिस लिन (51 गेंद में 82 रन, सात चौके, छह छक्के) और पांच गेंद के अंदर खतरनाक आंद्रे रसेल (10) का विकेट झटक लिया जिससे केकेआर की रन गति पर ब्रेक लग गया। रसेल इस सत्र में पहली बार 40 रन से कम के स्कोर पर आउट हुए।

 

ताहिर की खतरनाक गेंदबाजी का इतना असर पड़ा कि केकेआर की टीम अंतिम पांच ओवरों में महज 29 रन ही बना सकी और उसने तीन और विकेट गंवा दिये। लेकिन केकेआर की पारी शानदार ढंग से शुरू हुई। फिर से फिट हुए लिन ने इस सत्र में दूसरा अर्धशतक लगाकर टीम को बेहतर शुरूआत करायी, जिन्होंने महज 36 गेंद में 50 रन बना लिये। फ्लू के कारण वह टीम के पिछले मैच में नहीं खेल पाये थे, उन्होंने दीपक चाहर को धो दिया जिन्होंने पहले दो ओवर में 22 रन लुटाए। इस आस्ट्रेलियाई ने इस गेंदबाज पर तीसरे ओवर में चौका, छक्का और चौका लगाया। लिन का दबदबा इतना था कि विस्फोटकीय बल्लेबाजी करने वाले सुनील नारायण भी दूसरे छोर पर दर्शक दिख रहे थे। पहले चार ओवर में लिन ने 33 में से 31 रन जोड़े। लिन जब क्रीज पर थे तो टीम के 200 रन बनाने की उम्मीद लग रही थी। ताहिर को फाफ डु प्लेसिस और स्थानापन्न खिलाड़ी ध्रुव शोरे के शानदार कैच का फायदा मिला जिनकी बदौलत उन्होंने 11वें ओवर में नीतिश राणा (21) और रोबिन उथप्पा (शून्य) को महज दो गेंद के अंदर आउट कर दिया। दिनेश कार्तिक और लिन ने रन रेट पर कोई असर नहीं पड़ने दिया।

 

ेकिन 15वें ओवर में ताहिर ने लिन का विकेट झटक लिया जिसके बाद रसेल क्रीज पर उतरे जिन्होंने भी ताहिर की गेंद पर चौका और छक्का लगाकर शानदार शुरूआत की। पर अगली ही गेंद पर वह भी इस गेंदबाज का शिकार बन गये। इसके बाद टीम की रन गति धीमी हो गयी और कार्तिक भी 18 रन का ही योगदान कर सके। चेन्नई सुपरकिंग्स की कैचिंग शानदार रही जिसमें डु प्लेसिस अहम रहे।
अंतिम ओवर में शुभमान गिल (15) शारदुल ठाकुर (18 रन देकर दो विकेट) की गेंद पर आउट हुए और कुलदीप यादव आखिरी गेंद पर रन आउट हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...