Thu. Sep 19th, 2019

सीएम योगी ने बताया कितने किसानों को मिला सम्मान योजना का लाभ

  •   
  •  
  •  
  •  
  •   
  •  
  •  

लोकसभा चुनाव के दौरान विपक्ष ने किसानों की परेशानी और कर्ज जैसी समस्याओं को पूरे जोर-शोर से उठाया लेकिन इसके एकदम उलट उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किसानों के लिए किए काम और उनकी अच्छी स्थिति का गुणगान किया. ‘मिलियन फारमर्स स्कूल’ के एक प्रोग्राम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि लगभग 5 दशकों पहले हमारा देश दूसरे देशों से आयातित खाद्य सामग्री पर निर्भर था लेकिन किसानों की कड़ी मेहनत के चलते आज हमारा देश किसी पर निर्भर नहीं है. इसके साथ ही उन्होंने पिछली सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि ये वही प्रदेश है जिसके कुछ इलाकों में किसान 2 साल पहले तक आत्महत्या कर रहे थे. उस समय किसान सुविधाओं से वंचित थे और वो सिर्फ नुकसान झेल रहे थे.

 

उन्होंने कहा कि तब तक मोदी सरकार की किसान कल्याण योजनाएं लागू नहीं हुई थीं. किसान तब तक या तो सब छोड़ कर पलायन कर रहे थे या आत्महत्या करने पर मजबूर थे. योगी ने कहा कि जब से प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनी है, तबसे उसकी पहली प्राथमिकता कृषि क्षेत्र रहा है. उन्होंने आगे कहा कि हमने 2.33 करोड़ किसानों का डाटा तैयार किया.

 

लेकिन अब स्थिति बिल्कुल एकदम अलग है, यूपी में भारी मात्रा में उत्पादन हो रहा है. हमने सिचांई की सुविधाएं उपलब्ध करवाई. 1.03 करोड़ किसानों को ‘किसान सम्मान योजना’ के तहत फायदा मिला. इन सबके अलावा केंद्र सरकार ने तकनीकी उन्नति के लिए यूपी में 20 कृषि विज्ञान केंद्र खोलने का फैसला किया. लेकिन पिछली सरकार ने इस पर कोई ध्यान नहीं दिया.योगी आदित्यनाथ ने आगे कहा कि हम गन्ना किसानों के बकाया धनराशि का भुगतान कर रहे हैं, इसके साथ ही हम पर्यावरण के अनुकूल वातावरण प्रदान करने के लिए भी प्रतिबद्ध हैं. उन्होंने कहा कि राम राज्य सभी को फायदा पहुंचा रहा है. हमारे किसानों को पद्म अवार्ड मिल रहे हैं. किसानों की बेहतरी के लिए कृषि संस्थानों का काम करना बहुत जरूरी है.

Visitor Hit Counter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...