Tue. Mar 26th, 2019

जेटली का कांग्रेस पर पलटवार कहा, ‘नेहरु ने ही चीन को कहा था पहले आप’

नई दिल्ली। आतंकी मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने में एक बार फिर चीन ने अड़ंगा डाला, यह चौथी बार है जब चीन ने वीटो पावर का इस्तेमाल कर मजूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित होने से रोक दिया, जिसके बाद इस मुद्दे पर राजनीति विवाद शुरू हो गया है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इसे मोदी सरकार की बड़ी नाकामी बताया है, जिस पर केंद्रीय मंत्री अरूण जेलटी ने बड़ा हमला बोला है। जेटली ने कहा कि यूपीए के कार्यकाल के दौरान भी चीन ने भारत के साथ यही किया था

 

क्या है मामला- एक मीडिया हाउस को दिए इंटरव्यू में अरुण जेटली ने कांग्रेस की ओर से लगाए गए सभी आरोपों को खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि मजूद अजहर पर चीन ने ऐसा पहली बार नहीं किया। यह उसका पुराना स्टैंड है। मैं इस में भारत की डिप्लोमैसी को बहुत सफल मानता हूं। उन्होंने कहा कि इसे सफल इस लिए कहा जा सकता है कि क्योंकि वहां एक भी ऐसा देश नहीं था जिसने कहा हो कि आपने एलओसी और अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर पार करके गलत किया। कैंद्रीय मंत्री ने कहा कि मैं इसे भारत की सबसे बड़ी सफलता मानता हूं, जब पाकिस्तान ने आईओसी से कहा कि अगर आप भारत को बुलाएंगे तो हम नहीं आएंगे। लेकिन तब भी इस्लामिक देशों ने भारत को बूलाया और पाकिस्तान नहीं आया।
वहीं, उन्होंने कहा संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद चीन ने जो किया वह उसका पुराना स्टैंड था। यूपीए की सरकार के समय भी चीन का यहीं स्टैंड था और अब हमारी सरकार के दौरान भी यही है।

 

जब नेहरु ने कहा था पहले आप- अरुण जेटली ने कहा कि जवाहरलाल नेहरू ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में चीन को सीट देने का समर्थन किया था। इसके असली गुनहगार वही हैं। उन्होंने कहा कि कश्मीर और चीन दोनों पर असली गलती, एक ही व्यक्ति द्वारा की गई थी। जेटली ने जवाहरलाल नेहरू के मुख्यमंत्रियों को 2 अगस्त, 1955 को लिखे पत्र का हवाला देते हुए उक्त बातें कहीं। जेटली ने पत्र के अंशों का जिक्र किया जिसमें कहा गया था कि अमेरिका चीन को संयुक्त राष्ट्र में लेने के लिए तैयार था। लेकिन वह सुरक्षा परिषद में भारत को जगह देना चाहता था, पर जवाहरलाल नेहरु ने भारत को सुरक्षा परिषद में सीट लेने के प्रस्ताव को यह कहकर ठुकरा दिया कि चीन एक महान देश है और ऐसे में उसकी जगह लेना एक प्रकार से बेइमानी होगी।

Web Counter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...