Mon. Jun 24th, 2019

ऑटो डीलर्स के पास स्टॉक में पड़े है 35,000 करोड़ के अनसोल्ड वाहन, कंपनियों ने बंद किया प्रोडक्शन

  •   
  •  
  •  
  •  
  •   
  •  
  •  

इस साल के शुरुआत से लेकर अब तक भारतीय ऑटो इंडस्ट्री का सबसे बूरा दौर रहा है। जनवरी 2019 से लेकर अब तक भारतीय ऑटो इंडस्ट्री में लगातार बिक्री में गिरावट दर्ज की जा रही है। हालत इतनी ख़राब है कि कई ऑटो निर्माताओं में फैक्ट्रियां बंद करने की घोषणा की है। यह फैसला कंपनियों के डीलरशिप पर पहले से स्टॉक को खत्म करने के उद्देश्य से किया गया है। एक रिपोर्ट के अनुसार, आने वाले महीनों में ऑटोमोबाइल उद्योग के लिए अपने उत्पादन और विकास लक्ष्यों को हासिल करना मुश्किल हो सकता है। रिपोर्ट के अनुसार मांग में आई भाड़ी कमी के कारण अब तक 35,000 करोड़ रुपये के वाहन नहीं बेचे जा सके है जिसमें दो-पहिया वाहनों की संख्या 3 मिलियन तक की है। इन वाहनों की कीमत करीब 2.5 बिलियन डॉलर की बताई जा रही है।

 

गौरतलब है कि पिछले दिनों मारुति सुजुकी, टाटा मोटर्स और महिंद्रा एंड महिंद्रा जैसी शीर्ष 10 पैसेंजर वाहन निर्माता कंपनियों ने कुछ दिनें के लिए अपने प्लांट्स को बंद रखने का फैसला किया है। इस दौरान ऑटो विशेषज्ञों की मानें तो देश में मई-जून की अवधि में इंडस्ट्री में 20 से 25 फीसदी की गिरावट आ सकती है। जानकारी के लिए बता दें कि हाल ही में मारुति सुजुकी ने अपने रिपोर्ट में कहा है कि वह अपने उत्पादन को बंद करने जा रही है। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि मई 2019 की बिक्री में कंपनी को 22 फीसदी की गिरावट आई है। देश में मई महीने में महिंद्रा एंड महिंद्रा, टाटा मोटर्स और होंडा कार्स को मिलाकर कुल 229,294 यूनिट्स वाहनों की बिक्री हुई है।

Visitor Hit Counter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...